Husn Ishq Ki Yeh Kahani Lyrics in Hindi & English

Song Name : Husn Ishq Ki Yeh Kahani
Album / Movie : Jawani Zindabad 1990
Star Cast : Aamir Khan, Farha Naaz
Singer : Anuradha Paudwal, Mohammed Aziz
Music Director : Anand Shrivastav, Milind Shrivastav
Lyrics by : Sameer
Music Label : Venus

Husn Ishq Ki Yeh Kahani Lyrics in Hindi

हुस्नो इश्क़ की ये कहानी
हर दिल की जानी पहचानी
मिला जहां पर आग और पानी
दुनिया कहती उसे जवानी
कही शिरी कही फरिहाद
कही शेती कही मुराद
हर दिल को करे ाबाद
जवानी ज़िंदाबाद जवानी ज़िंदाबाद
जवानी ज़िंदाबाद जवानी ज़िंदाबाद
हर ग़म से है आजाद
जवानी ज़िंदाबाद जवानी ज़िंदाबाद
जवानी ज़िंदाबाद जवानी ज़िंदाबाद

जिसपे जवानी जब जब
ायी कानो में बजी शहनाई
जिसपे जवानी जब जब
ायी कानो में बजी शहनाई
सल सोलहवा जिस दिन लगे
तन पीछे मन आगे भागे
बिना बात के खोयी खोयी
आधी जागी आधी सोई
होंठ गुलाबी जब जब खोले
हंस हंस के कोई बात भी बोले
हर बात पे मिलती डैड
जवानी ज़िंदाबाद जवानी ज़िंदाबाद
जवानी ज़िंदाबाद जवानी ज़िंदाबाद

ये चंचल मदमस्त जवानी
जैसे चढती नदी का पानी
ये चंचल मदमस्त जवानी
जैसे चढती नदी का पानी
जहा भी उठ गयी गोरी बहे
रुक गए रास्ते थम गयी रहे
लेकिन जब ये आँख मिलाए
दिल के टुकड़े करती जाये
जहा भी छनके इसकी पायल
तीन मरे और तरह घायल
हुए आशिक कई बर्बाद
जवानी ज़िंदाबाद जवानी ज़िंदाबाद
जवानी ज़िंदाबाद जवानी ज़िंदाबाद
हुस्नो इश्क़ की ये कहानी
हर दिल की जानी पहचानी
मिला जहां पर आग और
पानी दुनिया कहती उसे जवानी
कही शिरी कही फरिहाद
कही शेती कही मुराद
हर दिल को करे ाबाद
जवानी ज़िंदाबाद जवानी ज़िंदाबाद
जवानी ज़िंदाबाद जवानी ज़िंदाबाद.

Husn Ishq Ki Yeh Kahani Lyrics in English

Husno ishq ki ye kahani
Har dil ki jani pehchani
Mila jaha par aag aur pani
Duniya kahti use jawani
Kahi shiri kahi farihad
Kahi sheti kahi murad
Har dil ko kare aabad
Jawani zindabad jawani zindabad
Jawani zindabad jawani zindabad
Har gham se hai aajad
Jawani zindabad jawani zindabad
Jawani zindabad jawani zindabad

Jispe jawani jab jab
Aayi kano mein baji shehnayi
Jispe jawani jab jab
Aayi kano mein baji shehnayi
Sal solhava jis din lage
Tan pichhe man aage bhage
Bina bat ke khoyi khoyi
Aadhi jagi aadhi soyi
Honth gulabi jab jab khole,
Hans hans ke koi bat bhi bole
Har bat pe milti dad, jawani zindabad
Jawani zindabad jawani zindabad
Jawani zindabad jawani zindabad

Ye chanchal madmast jawani
Jaise chadhti nadi ka pani
Ye chanchal madmast jawani
Jaise chadhti nadi ka pani
Jaha bhi uth gayi gori bahe,
Ruk gaye raste tham gayi rahe
Lekin jab ye aankh milaye
Dil ke tukde karati jaye
Jaha bhi chhanke iski payal
Teen mare aur terah ghayal
Huye aashiq kayi barbad
Jawani zindabad jawani zindabad
Jawani zindabad jawani zindabad
Husno ishq ki ye kahani
Har dil ki jani pehchani
Mila jaha par aag aur
Pani duniya kahti use jawani
Kahi shiri kahi farihad
Kahi sheti kahi murad
Har dil ko kare aabad
Jawani zindabad jawani zindabad
Jawani zindabad jawani zindabad.

Leave a Comment