Hum Bhool Gaye Lyrics in Hindi & English

Song Name : Hum Bhool Gaye
Album / Movie : Aks 2001
Star Cast : Amitabh Bachan, Raveena Tandon, Manoj Bajpai, Nandita Das
Singer : Hariharan
Music Director : Anu Malik
Lyrics by : Gulzar (Sampooran Singh Kalra)
Music Label : Saregama

Hum Bhool Gaye Lyrics in Hindi

हम भूल गए हैं रख के कही
वह चीज़ जिसे दिल कहते थे
वह चीज़ जिसे दिल कहते है
हम भूल गए हैं रख के कही
वह चीज़ जिसे दिल कहते थे
वह चीज़ जिसे दिल कहते है
हम भूल गए हैं रख के कही

उम्मीद भी अजनबी लगती है
और दर्द पराया लगता है
उम्मीद भी अजनबी लगती है
और दर्द पराया लगता है
आईने में जिसको देखा
था बिछडा हुवा सया लगता है
आईने में जिसको देखा
था बिछडा हुवा सया लगता है
हम भूल गए हैं रख के कही
वह चीज़ जिसे दिल कहते थे
वह चीज़ जिसे दिल कहते है
हम भूल गए हैं रख के कही

ना जाने कहाँ छोड़
आये है वह शख्स
जिसे हम जानते थे
ना जाने कहाँ छोड़
आये है वह शख्स
जिसे हम जानते थे
आहट भी सुनाई देती
नहीं परछाई से
हम पहचानते थे
आहट भी सुनाई देती
नहीं परछाई से हम पहचानते थे
हम भूल गए हैं रख के कही
वह चीज़ जिसे दिल कहते थे
वह चीज़ जिसे दिल कहते है
हम भूल गए हैं रख के कही
वह चीज़ जिसे दिल कहते थे
वह चीज़ जिसे दिल कहते है
हम भूल गए हैं रख के कही.

Hum Bhool Gaye Lyrics in English

Ham bhul gaye hain rakh ke kahi
Woh chiz jise dil kehte the
Woh chiz jise dil kehte hai
Ham bhul gaye hain rakh ke kahi
Woh chiz jise dil kehte the
Woh chiz jise dil kehte hai
Ham bhul gaye hain rakh ke kahi

Umid bhi ajnabi lagti hai
Aur dard paraya lagta hai
Umid bhi ajnabi lagti hai
Aur dard paraya lagta hai
Aayine me jisko dekha
Tha bichda huwa saya lagta hai
Aayine me jisko dekha
Tha bichda huwa saya lagta hai
Ham bhul gaye hain rakh ke kahi
Woh chiz jise dil kehte the
Woh chiz jise dil kehte hai
Ham bhul gaye hain rakh ke kahi

Naa janey kaha chhod
Aaye hai woh shaks
Jise ham jante the
Naa janey kaha chhod
Aaye hai woh shaks
Jise ham jante the
Aahat bhi sunayi deti
Nahi parchayi se
Ham pehchante the
Aahat bhi sunayi deti
Nahi parchayi se ham pehchante the
Ham bhul gaye hain rakh ke kahi
Woh chiz jise dil kehte the
Woh chiz jise dil kehte hai
Ham bhul gaye hain rakh ke kahi
Woh chiz jise dil kehte the
Woh chiz jise dil kehte hai
Ham bhul gaye hain rakh ke kahi.

Leave a Comment