Barham Hai Hum Lyrics in Hindi & English

Song Name : Barham Hai Hum
Album / Movie : Lanka 2011
Star Cast : Manoj Bajpai, Arjan Bajwa, Tia Bajpai
Singer : Krishnakumar Kunnath (K.K)
Music Director : Gaurav Dagaonkar
Lyrics by : Seema Saini
Music Label : ASA Music Records

Barham Hai Hum Lyrics in Hindi

एहसानो थाले बेबस
सी है ये हवाएं
घुल रही है साँसों में
जैसे ज़हर सी हवाएं
एहसानो ठाले बेबस
सी है ये हवाएं
घुल रही है साँसों में
जैसे ज़हर सी हवाएं
बेमानी सी ज़िन्दगी
जी रहे है हम
है रात सी हर ख़ुशी है
बरहम है हम
बरहम है हम
बरहम है हम
बरहम है हम
बरहम है हम

अगर गुनाहगार हूँ मै
मुजरिम नहीं तू भी कम
खामोश मैं भी देखूं
चुप तू भी देखे सितम
तू तो भला डरा खुदा
क्यों है बेबस तू ऐसे
तू भी वही माँ भी वहीँ
दोनों मिटटी के जैसे
टूटे है इस दिल
के सारे भरम
बरहम है हम
थेराते जा रहे सितम
बरहम है हम
सेहरा न होता ये ख़तम
बरहम है हम

तेरा सवारे है भरम
बरहम है हम
क्यूँ बेखबर है ऐसे
खुद के जहां से ही तू
तेरा लिखा न भाये
सुनले ख़ुदा ाभ ये तू
मैं ये मेरा मुझसे कहे
दूर चलदे यहाँ से
न हो कोई नाता तेरे
दर्द के इस जहां से
टूटे हैं सारे बेरोहाराम
बरहम है हम
थेराते जा रहे सितम
बरहम है हम
सेहरा न होता ये ख़तम
बरहम है हम

तेरा सवारे है भरम
तुझसे क्या छुपा
तू तो है खुदा
इंसान बन के देख
बरहम है हम
जीने के लिए
मरते हम रहें
तू भी मर के देख
बरहम है हम

खुदा जो हो हमें
तेरे संग करलु लकीर
नहीं बनु मेरा खुदा
सभ हो मेरी दलील
चाहूँ न ाभ तेरे
रहम ओ करम
एहसानो थाले घुल
रही है साँसों में.

Barham Hai Hum Lyrics in English

Ehsaano thale bebas
Si hai ye hawaaye
Ghul rahi hai saanson me
Jaise zeher si hawaaye
Ehsaano tale bebas
Si hai ye hawaaye
Ghul rahi hai saanso me
Jaise zeher si hawaaye
Bemaani si zindagi
Ji rahe hai ham
Hai raat si har khushi hai
Barham hai ham
Barham hai ham
Barham hai ham
Barham hai ham
Barham hai ham

Agar gunaahgaar hoo mai
Mujrim nahi tu bhi kum
Khaamosh mai bhi dekhoon
Chup tu bhi dekhe sitam
Tu to bhala dara khuda
Kyun hai bebas tu aise
Tu bhi vahi ma bhi vahin
Dono mitti ke jaise
Toote hai is dil
Ke saare bharam
Barham hai ham
Theraate jaa rahe sitam
Barham hai ham
Sehera na hota ye khatam
Barham hai ham

Tera sawaare hai bharam
Barham hai ham
Kyun bekhabar hai aise
Khudh ke jahaan se hi tu
Tera likha na bhaaye
Sunle khuda abh ye tu
Mann ye mera mujhse kahe
Dur chalde yahan se
Na ho koii naata tere
Dard ke is jahaan se
Toote hain saare beroharam
Barham hai ham
Theraate ja rahe sitam
Barham hai ham
Sehera na hota ye khatam
Barham hai ham

Tera sawaare hai bharam
Tujhse kya chupa
Tu to hai khuda
Insaan ban ke dekh
Barham hai ham
Jine ke liye
Marte ham rahen
Tu bhi mar ke dekh
Barham hai ham

Khuda jo ho hame
Tere sang karlu lakir
Nahi banu mera khuda
Sabh ho meri dalile
Chaahun na abh tere
Rahem o karam
Ehsaano thale ghul
Rahi hai saanson me.

Leave a Comment